Lifestyle

यदि आप भगवान विष्णु, देव गुरु बृहस्पति भक्त हैं तो गुरुवार के दिन इन मंत्रों का जाप करें

यदि आप भगवान विष्णु, देव गुरु बृहस्पति भक्त हैं तो गुरुवार के दिन इन मंत्रों का जाप करें
Written by Tora

भगवान विष्णु को सभी देवताओं में श्रेष्ठ माना जाता है। वहीं देव गुरु बृहस्पति को सभी देवताओं का गुरु बताया गया है। महर्षि पराशर के शब्दों में, “बृहस्पति का एक बड़ा शरीर, भूरे बाल, भूरी आँखें, कफनाशक, बुद्धिमान और विद्वान पुरुष ग्रह हैं”।

एक हिंदू धार्मिक मान्यता के अनुसार, भक्तों का मानना ​​है कि गुरुवार को भगवान विष्णु और देव गुरु बृहस्पति की पूजा करने से उन्हें खुशी और सफलता मिल सकती है। तिरुपति ज्योतिषाचार्य डॉ कृष्ण कुमार भार्गव ने इस शुभ अवसर पर मंत्रों का जाप करने के बारे में बताया है।

गुरु ग्रह बीज मंत्र

ओम बृं बृहस्पतये नम:

गुरुग्रह तांत्रिक मंत्र

ओम ग्रां ग्रीं ग्रौं स: गुरवे नम:

गुरु वैदिक मंत्र

ॐ बृहस्पते अति यदर्यो अर्हाद् द्युमद्विभाति क्रतुमज्जनेषु।

यद्दीयच्छवस ऋतप्रजात तदस्मासु द्रविणं धेहि चित्रम्।।

सुख, समृद्धि और संपत्ति के लिए विष्णु मंत्र

ओम भूरिदा भूरि देहिनो, मा दभ्रं भूर्या भर। भूरि घेदिन्द्र दितसि।

ॐ भूरिदा त्यसि श्रुत: पुरूत्रा शूर वृत्रहन्। आ नो भजस्व राधसि।

सभीमनोकामनाओं की जांच के लिए विष्णु मंत्र

ओम नमो भगवते वासुदेवाय

भगवानविष्णु का गायत्री मंत्र

ॐ नारायणाय विद्महे। वासुदेवाय धीमहि। तन्नो विष्णु प्रचोदयात्।।

यह भी माना जाता है कि यदि कोई जोड़ा इन मंत्रों का जाप करता है और गुरुवार को भगवान विष्णु और देव गुरु बृहस्पति की पूजा करता है, तो वे वैवाहिक आनंद का अनुभव कर सकते हैं। इस शुभ दिन पर भक्तों को कुछ महत्वपूर्ण बातों का ध्यान रखना चाहिए। ये निर्देश हैं:

भक्तों को अपने दिन की शुरुआत एक जाप के साथ करनी चाहिए और 108 बार ओम नमो नारायणाय का पाठ करना चाहिए।

पूजा में भक्तों को दूध, दही और घी का उपयोग करना याद रखना चाहिए।

भक्तों को भी पूरे दिन में केवल एक बार भोजन करना चाहिए।

भक्तों को याद रखना चाहिए कि इस दिन पीला रंग सबसे उपयुक्त होता है। इस बात का ध्यान रखते हुए पीले फूलों से पूजा करनी चाहिए। पीले फल जैसे केला, केसर से पके हुए चावल, चने की दाल और पीली मिठाई जैसे बेसन के लड्डू आदि का भी प्रयोग करना चाहिए।

पूजा करते समय मुख पूर्व दिशा की ओर होना चाहिए।

लाइफस्टाइल से जुड़ी सभी ताजा खबरें यहां पढ़ें

About the author

Tora

Leave a Comment