Lifestyle

मजबूत और सुडौल टांगों के लिए 5 असरदार योगासन

मजबूत और सुडौल टांगों के लिए 5 असरदार योगासन
Written by Tora

पैर हमारे शरीर के खंभे की तरह हैं। वे हमारे पूरे शरीर का भार वहन करते हैं और इसलिए उनकी अतिरिक्त देखभाल करना महत्वपूर्ण हो जाता है। जहां लोग अपने शरीर के ऊपरी हिस्से की विशिष्ट मांसपेशियों पर ध्यान देते हैं, वहीं निचले हिस्से को अक्सर नजरअंदाज कर दिया जाता है। हालाँकि, यदि आप मजबूत और सुडौल पैर पाना चाहते हैं, तो आप योग मार्ग अपनाने की कोशिश कर सकते हैं। हमने आपके लिए पांच प्रभावी योग आसनों की एक सूची तैयार की है

उत्कटासन (चेयर पोज)

कुर्सी मुद्रा या उत्कटासन से आपकी जांघें, पीठ और पैर मजबूत होते हैं।

कैसे प्रदर्शन करें:

शुरू करने के लिए, अपने पैरों को थोड़ा अलग करके और अपने हाथों को अपने बगल में रखते हुए सीधे खड़े हो जाएं। छत की ओर मुंह करके अब अपने हाथ ऊपर रखें। जैसे ही आप नीचे बैठते हैं, कुर्सी की स्थिति बनाने के लिए अपने घुटनों को मोड़ें। इस स्थिति में रहने के तीन मिनट बाद अपनी प्रारंभिक स्थिति में आ जाएं।

वीरभद्रासन II (योद्धा II मुद्रा)

एक और व्यायाम जो कूल्हों और पैरों को लक्षित करता है वह योद्धा मुद्रा या वीरभद्रासन है। इस योग मुद्रा से आपकी बाहों, कंधों, छाती और कोर की मांसपेशियों को लाभ होगा।

कैसे प्रदर्शन करें:

एक सीधा रुख अपनाकर शुरुआत करें, अपने हाथों को अपने बगल में रखते हुए अपने पैरों को फैला लें। अब, अपने दाहिने पैर को 90 डिग्री और अपने बाएं पैर को लगभग 15 डिग्री तक घुमा लें। नीचे की ओर वाली हथेली को बनाए रखते हुए अपने हाथों को अपने कंधों तक उठाएं। आपकी पीठ सीधी होनी चाहिए, और आपको अपनी बाईं ओर देखना चाहिए। करीब तीन मिनट तक इसी स्थिति में रहने के बाद वापस अपनी शुरुआती स्थिति में आ जाएं। दूसरी ओर मुड़ने पर भी यही प्रक्रिया अपनानी चाहिए।

अधो मुख संवासन (डाउनवर्ड डॉग पोज)

अधोमुखी कुत्ता रक्त प्रवाह और लचीलेपन में सुधार करके पैरों को लाभ पहुंचाता है।

कैसे प्रदर्शन करें:

चारों तरफ से उतरते हुए शुरुआत करें। अब अपने कूल्हों और घुटने को जमीन से ऊपर उठाकर एक उल्टा वी बनाएं। आपके पैर और हथेलियां जमीन पर मजबूती से टिकी होनी चाहिए। अपने कोर को सक्रिय रखते हुए लगभग एक मिनट तक इस स्थिति में रहें। एक मिनट बाद वापस पोजीशन में आ जाएं।

प्रसारिता पदोत्तानासन (चौड़े पैर आगे की ओर झुकते हुए मुद्रा)

प्रसारिता पदोत्तानासन, या चौड़े पैर वाले आगे की ओर झुकने वाली मुद्रा में आपके पैर और पीठ को फैलाया जाएगा। इससे आपकी रीढ़ की हड्डी भी लंबी हो जाती है।

कैसे प्रदर्शन करें:

शुरू करने के लिए, अपने हाथों को अपने बगल में रखें और अपने पैरों को अलग करके खड़े हो जाएँ। एक सीधी पीठ और बाहर की ओर पैर रखें। अब सांस छोड़ें और कूल्हे के बल आगे की ओर झुकें। अपनी हथेलियों को फर्श पर रखते हुए आगे की ओर झुकना जारी रखें जब तक कि आपका सिर फर्श को न छू ले। अपने पैरों और पीठ को तानें। लगभग 10 सांसों के बाद, अपनी प्रारंभिक स्थिति में लौटने से पहले इस स्थिति को बनाए रखें।

नटराजासन (नृत्य मुद्रा के स्वामी)

नटराजासन, जिसे डांस पोज़ के भगवान के रूप में भी जाना जाता है, आपके पैर की मांसपेशियों को मजबूत करता है और आपके संतुलन को बढ़ाता है।

कैसे प्रदर्शन करें:

शुरू करने के लिए, अपने पैरों को थोड़ा फैलाकर सीधे खड़े हो जाएं और अपने हाथों को अपने बगल में रखें। इस समय अपने दाहिने पैर को पीछे की ओर उठाएं। अपने दाहिने पैर को तब तक फैलाएं जब तक कि वह जमीन के लगभग समानांतर न हो जाए। आपका बायां हाथ हथेली के साथ आपके सामने उठाया जाना चाहिए। अपने दाहिने हाथ को अपने पीछे बढ़ाकर भीतरी दाहिने पैर को पकड़ें। आपकी छाती उठाई जानी चाहिए, और आपके कंधों को आराम देना चाहिए। एक बार जब आप इसे लगभग 30 सेकंड तक रोक कर रखते हैं, तो अपनी वास्तविक स्थिति में वापस आ जाएँ।

लाइफस्टाइल से जुड़ी सभी ताजा खबरें यहां पढ़ें

About the author

Tora

Leave a Comment