Lifestyle

अपने तौलिये को नरम और फूला हुआ रखने के लिए इन असरदार कदमों का पालन करें

अपने तौलिये को नरम और फूला हुआ रखने के लिए इन असरदार कदमों का पालन करें
Written by Tora

यदि आप चाहते हैं कि तौलिये को यथासंभव लंबे समय तक मुलायम और भुलक्कड़ बनाए रखा जाए तो यह जानना अत्यंत आवश्यक है कि तौलिये को कैसे धोना है। जबकि तौलिये धोना कोई कठिन काम नहीं है, यह उचित देखभाल और ध्यान देने की मांग करता है। उन्हें हर हफ्ते धोना महत्वपूर्ण है क्योंकि इससे आपको स्वच्छता बनाए रखने में मदद मिलती है।

तौलिए जो अच्छी तरह से सुखाए और धोए गए हैं वे लंबे समय तक चलते हैं और लंबे समय तक अपना रंग, कोमलता और हल्कापन बनाए रखते हैं। नीचे, हमने आपका मार्गदर्शन करने के लिए कई टिप्स और ट्रिक्स का उल्लेख किया है कि आपको अपने तौलिये को कितनी बार धोना चाहिए। ये आज़माए और परखे हुए तरीके आपको कई धुलाई के बाद भी अपने तौलिये को ताज़ा और भुलक्कड़ बनाए रखने में मदद करेंगे।

वाशिंग मशीन को ओवरलोड न करें:

सुनिश्चित करें कि तौलिया वाशिंग मशीन में ठीक से रखा गया है। कपड़े धोते समय मशीन को ओवरलोड न करें। यदि धुलाई का भार अपनी सीमा से अधिक हो जाता है, तो मशीन से अन्य कपड़ों को निकालने का प्रयास करें। यदि आप वाशिंग मशीन को ओवरफिल कर देते हैं, तो तौलिये ठीक से नहीं धुलेंगे, जो आपकी स्वच्छता के लिए अच्छा नहीं है।

तौलिये को सिरके से धोना:

सिरका तौलिये को मुलायम और फूला हुआ रखने में मदद करता है। अगर आप चाहते हैं कि आपके तौलिये की कोमलता न जाए, तो पानी में 1 कप सिरका मिलाएं और तौलिये को उसमें भिगो दें। इसके अलावा सिरका रंगों को सेट करने और अतिरिक्त डिटर्जेंट अवशेषों को हटाने में भी मदद करता है। तौलिया की कोमलता और कोमलता बनाए रखने के लिए हर छह सप्ताह में इस चरण का पालन करें।

ज्यादा डिटर्जेंट का इस्तेमाल न करें:

बहुत अधिक डिटर्जेंट का उपयोग करने से तौलिये खराब हो सकते हैं और उन्हें कम मुलायम और भुलक्कड़ बना सकते हैं। यदि आपके भार में केवल तौलिये हैं, तो निर्माता द्वारा निर्देशित डिटर्जेंट की आधी मात्रा का उपयोग करने की अनुशंसा की जाती है। गुणवत्ता वाले डिटर्जेंट का उपयोग करें क्योंकि यह आपके तौलिये को लंबे समय तक मुलायम रखने में मदद करेगा।

हफ्ते में एक बार टॉवल धोएं:

सप्ताह में एक बार तौलिये को धोने की सलाह दी जाती है। तौलिये को उनके रंग के अनुसार अलग करना याद रखें। सफेद तौलिये के लिए आवश्यकता के अनुसार गर्म पानी और गैर-क्लोरीन ब्लीच का उपयोग करने की सलाह दी जाती है। समय के साथ सूक्ष्म मलिनकिरण से बचने में मदद के लिए तौलिये को अलग से धोना चाहिए। अपने तौलिये को समय पर धोना न भूलें क्योंकि यह उसे मुलायम रखने का सबसे अच्छा तरीका है।

सुखाने से पहले तौलिये को हिलाएं:

जब आप अपने तौलिये को वाशिंग मशीन से बाहर निकालें, तो उसे हल्का सा हिलाना सुनिश्चित करें। यह कदम सतह के फाइबर को भुलक्कड़ बनाए रखेगा और अवशोषण में भी सहायता करेगा। तौलिये को हिलाने से अतिरिक्त पानी से छुटकारा पाने में मदद मिलती है और यह ड्रायर में एक गेंद में मुड़ने से रोकता है।

लाइफस्टाइल से जुड़ी सभी ताजा खबरें यहां पढ़ें

About the author

Tora

Leave a Comment